अधिगम के सिद्धांत तथा नियम

अधिगम के सिद्धांत तथा नियम (Theories and Law of Learning)

शिक्षा-मनोवैज्ञानिकों में अपने प्रयोग तथा अध्ययन के आधार पर अधिगम के सिद्धांतों तथा नियमों का प्रतिपादन किया  जो निम्न हैं-

 

  1. व्यवहारवाद सिद्धांत (Theory of behaviorism)
  2. अनुबंधन सिद्धांत (Conditioning Theory)
  3. क्रिया-प्रसूत सिद्धांत (Action-delivery principle)
  4. गेस्टाल्टवाद सिद्धांत (Theory of Gestalt)
  5. सामाजिक अधिगम वाद (Theory of Social Learning)
  6. पुनर्बलन सिद्धांत (Theory of Reinforcement)
  7. मानवतावादी सिद्धांत (Humanistic Theory of Learning)
  8. चिह्न का सिद्धांत (Sign Theory of Learning)
  9. क्षेत्र सिद्धांत (Field Theory of Learning)
  10. प्रसूति सिद्धांत (Contiguity Theory of Learning)
  11. अनुभवजन्य वाद सिद्धांत (Experimental Learning Theory)

 

अधिगम के सिद्धांत (Theories of Learning)

व्यवहारवाद सिद्धांत (Theory of behaviorism)

व्यवहारवाद सिद्धांत के बारे में जाने के लिए-  Click here

अधिगम का व्यवहारवाद सिद्धांत

अनुबंधन सिद्धांत (Conditioning Theory)

अनुबंधन सिद्धांत के बारे में जाने के लिए-  Click here

अधिगम का शास्त्रीय अनुबंधन सिद्धांत

क्रिया-प्रसूत सिद्धांत (Action-delivery principle)

क्रिया-प्रसूत सिद्धांत के बारे में जाने के लिए-  Click here

अधिगम का क्रिया-प्रसूत सिद्धांत

 

 

गेस्टाल्टवाद सिद्धांत (Theory of Gastalt)

गेस्टाल्टवाद सिद्धांत के बारे में जाने के लिए-  Click here

गेस्टाल्टवाद या अंतर्दृष्टि का सिद्धांत

 

सामाजिक अधिगम वाद (Theory of Social Learning)

गेस्टाल्टवाद सिद्धांत के बारे में जाने के लिए-  Click here

पुनर्बलन सिद्धांत (Theory of Reinforcement)

पुनर्बलन सिद्धांत के बारे में जाने के लिए-  Click here

पुनर्बलन सिद्धांत

 

अधिगम का मानवतावादी सिद्धांत (Humanistic Theory of Learning)

इस सिद्धांत का प्रतिपादन मैसलो (Abraham Harold Maslow) ने किया। इसको आवश्यकता पदानुक्रम सिद्धांत (Theory of pyramid of needs) भी कहते है।

मानवतावादी सिद्धांत के अनुसार हर व्यक्ति के पास समाज में योगदान देने और एक अच्छा और पसंद किया जाने वाला व्यक्ति बनने की क्षमता है। अगर उनकी आवश्यकताएँ पूरी होती हैं।

अब्राहम मास्लो और कार्ल रोजर्स ने मानवतावादी सिद्धांत का नेतृत्व किया और मास्लो ने “जरूरतों के पिरामिड” को विकसित किया।

 

इस सिद्धांत में मैसलो ने आवश्यकताओं को दो भागों में बाँटा हैं-

प्राथमिक आवश्यकताएं (Primary Needs)
  1. शारीरिक आवश्यकता (Physiological Needs) जैसे रोटी, कपड़ा, मकान
  2. सामाजिक सुरक्षा की आवश्यकता (Social Safety Needs)
  3. सामाजिक संबंध (Social Relations, Belongingness & Love needs)
उच्च स्तर की या गौण आवश्यकताएं (Esteem Needs)
  1. आत्मसम्मान (Self Respect)
  2. आत्मा वास्तविकरण (Self-Actualization)

 

 

अधिगम का चिह्न का सिद्धांत (Sign Theory of Learning)

यह सिद्धांत टोलमैन (Tolman) द्वारा दिया गया। टोलमैन का सिद्धांत उत्तेजना-प्रतिक्रिया सिद्धांत(stimulus-response theories)  और संज्ञानात्मक क्षेत्र सिद्धांत (cognitive field theories) को जोड़ता है।

इसको संकेत आधारित सिद्धांत (sign significance theory) तथा उद्देश्यपूर्ण व्यवहारवाद (purposive behaviourism) भी कहा जाता है।

 

अधिगम का क्षेत्र सिद्धांत (Field Theory of Learning)

यह सिद्धांत कुर्त लेविन (Kurt Lewin) ने दिया इसके अनुसार सीखना कारको पर निर्भर करता है। सीखना व्यक्तिगत कारक एवं पर्यावरणीय कारक के गुणनफल का परिणाम है।

B=f(pe)

B = व्यवहार (Behaviour)

f = फलन (Function)

p = व्यक्तिगत कारक (Person)

e = पर्यावरणीय कारक (Envirmental factor)

इस सिद्धांत के अनुसार भय (threat), लक्ष्य (goal) और बाधा (barrier) मुख्य कारक हैं। यदि किसी व्यक्ति को लक्ष्य प्राप्त करना है, उसे बाधा को पार करना होगा।

अधिगम का प्रसूति सिद्धांत (Contiguity Theory of Learning)

यह सिद्धांत एडविन गुथरी द्वारा दिया गया। इसके अनुसार अधिगम विशेष उत्तेजना ( stimulus) और प्रतिक्रिया (response) के बीच संबंध का परिणाम है।

अनुभवजन्य वाद सिद्धांत (Expermental Learning Theory)

यह कॉल रोजर्स द्वारा दिया गया। इस सिद्धांत के अनुसार अनुभव ही सीखने का आधार है।

 

अन्य लेख


संक्षेप में अधिगम के सिद्धांत (Learning Theories)

क्र.स. सिद्धांत (Theory) प्रवर्तक मनोवैज्ञानिक
1. व्यवहारवाद सिद्धांत (Theory of behaviorism) थार्नडाइक
2. अनुबंधन सिद्धांत (Conditioning Theory) पावलोव
3. क्रिया-प्रसूत सिद्धांत (Action-delivery principle) स्किनर
4. गेस्टाल्टवाद सिद्धांत (Theory of Gestalt) मैक्स वर्दीमर, कोहलर, कोफ्का
5. सामाजिक अधिगम वाद (Theory of Social Learning) अल्बर्ट बन्डूरा
6. पुनर्बलन सिद्धांत (Theory of Reinforcement) क्लार्क हल
7. मानवतावादी सिद्धांत (Humanistic Theory of Learning) मासलो
8. चिह्न का सिद्धांत (Sign Theory of Learning) टोलमेन
9. क्षेत्र सिद्धांत (Field Theory of Learning) कुर्त लेविन
10. प्रसूति सिद्धांत (Contiguity Theory of Learning) एडविन गुथरी
11. अनुभवजन्य वाद सिद्धांत (Experimental Learning Theory) कॉल रोजर्स
12. अन्तर्नोद न्यूनता सिद्धांत (Drive Reduction Theory) क्लार्क हल

मोबाइल से संबंधित ब्लॉग – Click here

वेबसाइट कैसे बनाए यहा सीखिए- Click here

Our other website – PCB


If you like this post and want to help us then please share it on social media like Facebook, Whatsapp, Twitter etc.

We will be happy to hear your thoughts

Leave a reply