कैसे करें विदेश जाने के लिए GRE एग्जाम की तैयारी? | Aliscience

कैसे करें विदेश जाने के लिए GRE एग्जाम की तैयारी?

कैसे करें विदेश जाने के लिए GRE एग्जाम की तैयारी?

इस लेख में GRE Exam के बारे में बताया गया है यदि आप नहीं जानते कि GRE  क्या होता है?  तो आप के लिए यह लेख काफी फायदेमंद होगा यदि आप विदेश में स्टडी करना चाहते हैं तो GREExam के बारे में जानना बहुत ही आवश्यक है

GRE  क्या होता है?

ग्रेजुएट रिकार्ड परीक्षा (GRE Exam, Graduate Record Examination) एक ऐसी परीक्षा है। जो आपके विदेश जाकर पढ़ने के सपने को साकार बनाता है। यह एक अंतरराष्ट्रीय टेस्ट है जिसका आयोजन एजुकेशनल टेस्टिंग सर्विसेज (ETS) नाम की एक संस्था उन विद्यार्थियों के लिए करवाती है। जो विदेशी बीस्कूल से मैनेजमेंट की पढाई करना चाहते है।

GRE एक बहुत अच्छा विकल्प है। जिसके माध्यम से होशियार बच्चें उच्च शिक्षा प्राप्त कर अच्छा वेतन पा सकते हैं।  हर साल 230 देशों से लाखों बच्चें GRE की तैयारी करते हैं जिनमे से सिर्फ कुछ को ही सफलता प्राप्त होती है। दुनिया भर में GRE एग्जाम के लिए करीब 700 केन्द्रो की व्यवस्था की जाती हैं। इस एग्जाम के स्कोर के आधार पर कई देशों में और खासतौर पर अमेरिका में ग्रैजुएट स्कूलों या बिजनस ग्रैजुएट स्कूलों में दाखिला मिलता है।

back to menu ↑

GRE से जुडी कुछ महत्वपूर्ण बातें

इससे पहले की हम GRE परीक्षा की तैयारी की बात करें, एग्जाम को लेकर कुछ ऐसी महत्वपूर्ण बातें है जिसे आपको जानना बहुत जरुरी हैं. तो आइए बात करते है की GRE में बैठने के लिए किन बातों का होना अनिवार्य हैं:

back to menu ↑

योग्यता (GRE Test Eligibility)

एजुकेशनल टेस्टिंग सर्विसेज (ETS) ने इस एग्जाम में बैठने के लिए किसी भी तरह की कोई शर्त निर्धारित नहीं की है। किसी भी उम्र और शैक्षिक योग्यता वाला इस परीक्षा में बैठ सकता है। हालाँकि एग्जाम क्लियर होने के बाद आपकी तरफ से चुना गया बीस्कूल की शैक्षिक और आयु संबंधित शर्तों को पूरा करने पर ही आपको दाखिला मिल पायेगा

 

back to menu ↑

सिलेबस (GRE Test Syllabus) 

GRE Test दो भागों में बनता हुआ है. पहले टेस्ट फॉर्मेट में analytical writing skills, verbal reasoning, critical thinking और quantitative reasoning से जुड़े सवाल होते है. यह एक जनरल पेपर है जो सबके लिए सामान्य रहता है. जबकि बात करे दुसरे पेपर की तो उसका सिलेबस किसी ख़ास विषय पर आधारित होता है. दोनों ही फॉर्मेट के लिए सिलेबस अलग अलग होते है. दोनों ही पेपर्स में में पास होने के लिए निर्धारित अंक प्राप्त करना जरुरी है.

back to menu ↑

जीआरई परीक्षा पैटर्न (GRE Test Pattern)

GRE की परीक्षा कंप्यूटर और पेपर दोनो ही माध्यम से दी जा सकती है।  कंप्यूटर टेस्ट के लिए 3.45 घंटे का समय दिया जाता है और इसका स्कोर 10-15 दिनों में मेल पर भेजा जाता है। वंही पेपर टेस्ट के लिए 3.5 घंटे का समय तय किया गया है और इसका स्कोर 4-6 हफ्तों में आपके ऑफिसियल मेल पर भेज दिया जाता है।

यदि आप शिक्षा के लिए परीक्षा के लिए ऑनलाइन मेथड चुनते हैं। तो प्रश्नों की कुल संख्या 82 होगी जो साथ भागो में विभक्त होंगे इन प्रश्नों को हल करने के लिए आपको 3 घंटे 45 मिनट का समय दिया जाएगा आइए इनके बारे में थोड़ा विस्तार से जान लेते हैं। इस एग्जाम में कुल 5 प्रकार के प्रश्न आते हैं। जो निम्न है-

  • मौखिक तर्क (Verbal Reasoning)
  • मात्रात्मक तर्क (Quantitative Reasoning)
  • विश्लेषणात्मक लेखन (Analytical Writing)
  • अनुसंधान (Research)
  • स्कोर नहीं किया गया (Unscored)

मौखिक तर्क (Verbal Reasoning)

  1. कंप्यूटर-आधारित
  2. अवधि – 30 मिनट
  3. वर्गों की संख्या – 2
  4. प्रश्नों की संख्या – 20

मात्रात्मक तर्क (Quantitative Reasoning)

  1. कंप्यूटर-आधारित
  2. अवधि – 35 मिनट
  3. वर्गों की संख्या –  2
  4. प्रश्नों की संख्या – 20

विश्लेषणात्मक लेखन (Analytical Writing)

  1. कंप्यूटर-आधारित
  2. अवधि – 60 मिनट
  3. वर्गों की संख्या –  1
  4. प्रश्नों की संख्या- 2

 

अनुसंधान (Research)

  1. कंप्यूटर-आधारित
  2. अवधि – निर्धारित नहीं
  3. वर्गों की संख्या –  1
  4. प्रश्नों की संख्या – निर्धारित नहीं

 

स्कोर नहीं किया गया या अनिर्धारित (Unscored)

  1. कंप्यूटर-आधारित
  2. अवधि –  निर्धारित नहीं
  3. वर्गों की संख्या –  1
  4. प्रश्नों की संख्या –  निर्धारित नहीं

रिसर्च और अनिर्धारित भाग में प्रश्नों की संख्या निश्चित नहीं होती। किसी भाग में प्रश्नों की संख्या अधिक हो सकती है तो किसी में कम।

 

GRE के ऑफलाइन मोड पेपर आधारित होता है। इसमें कुल 102 प्रश्न आते हैं जो 6 अनुभाग में विभक्त होते हैं। जिनको हल करने के लिए आपको 3 घंटे 30 मिनट का समय दिया जाता है।

मौखिक तर्क (Verbal Reasoning)

  1. पेपर-आधारित
  2. अवधि – 35 मिनट
  3. वर्गों की संख्या – 2
  4. प्रश्नों की संख्या – 25

मात्रात्मक तर्क (Quantitative Reasoning)

  1. पेपर-आधारित
  2. अवधि 40 मिनट
  3. वर्गों की संख्या 2
  4. प्रश्नों की संख्या 25

विश्लेषणात्मक लेखन (Analytical Writing)

  1. पेपर-आधारित
  2. अवधि – 30 मिनट
  3. वर्गों की संख्या – 2
  4. प्रश्नों की संख्या – 2

पेपर आधारित एग्जाम में अनिर्धारित और रिसर्च संबंधित प्रश्न नहीं पूछे जाते।

back to menu ↑

सब्जेक्ट टेस्ट के लिए जीआरई परीक्षा पैटर्न

छह विषयों के लिए जीआरई परीक्षा पैटर्न दिया गया है:

जीवविज्ञान

  1. जैव रसायन
  2. सेलुलर और आणविक जीवविज्ञान
  3. पारिस्थितिकी और विकास

रसायन विज्ञान

  1. विश्लेषणात्मक रसायन विज्ञान
  2. अकार्बनिक रसायन विज्ञान
  3.  कार्बनिक रसायन विज्ञान
  4. भौतिक रसायन विज्ञान

गणित

  1. रैखिक बीजगणित
  2. अमूर्त बीजगणित
  3. प्राथमिक बीजगणित
  4. संख्या सिद्धांत

अंग्रेजी साहित्य

  1. नाटक
  2. जीवनी
  3. कविता
  4. लघु कहानी
  5. आलोचना
  6. भाषाओं का इतिहास
  7. साहित्यिक सिद्धांत

भौतिकी

मनोविज्ञान

 

back to menu ↑

पंजीकरण (GRE Registration)

GRE के दोनों पेपर्स के लिए रजिस्ट्रेशन का तरीका थोड़ा अलग है। पहले पेपर यानी जीआरई जनरल टेस्ट का रजिस्ट्रेशन चार तरीके ऑनलाइन, फोन, मेल और फैक्स से करवाया जा सकता है। जबकि जीआरई सब्जेक्ट टेस्ट के रजिस्ट्रेशन के लिए केवल ऑनलाइन और मेल  ही उपलब्ध हैं। इस टेस्ट के रजिस्ट्रेशन के लिए पहले ‘My GRE Account’ बनाना भी जरुरी हैं

back to menu ↑

परीक्षा की तारीख (GRE Test Dates)

इस परीक्षा का आयोजन पुरे साल होता है। जिसमें अप्लाई करने के लिए आपको अपना ‘जीआरई अकाउंट’ बनाना होगा। अगर कोई भी व्यक्ति किसी ख़ास तारीख को परीक्षा देना चाहता है तो वो उसका आवेदन अपने बनाये GRE अकाउंट पर कर सकता है। कैंडिडेट GRE टेस्ट हर 21 दिनों में दे सकते हैं लेकिन साल में सिर्फ 5 बार। 

स्कोर (GRE Score) 

GRE स्कोर परीक्षा के 10-15 दिनों बाद आपके ऑफिसियल मेल पर एजुकेशनल टेस्टिंग सर्विसेज द्वारा भेज दिया जाता है। यह स्कोर 5 साल तक वैध होते हैं। आप टेस्ट के 3 महीने बाद दोबारा स्कोर भेजने के लिए आग्रह कर सकते हैं

इसमें 0 से 120 स्कोर की मार्किंग होती है लेकिन यदि आपको 90 या इससे अधिक स्कोर प्राप्त होते हैं तो इसको अच्छा स्कोर माना जाता है 

यह कुछ विशेष बातें थी जो हर  कैंडिडेट को ध्यान में रखनी चाहिए अगर वो सच में GRE को क्रैक कर अपनी आगे की पढाई विदेश में करना चाहते हैंइसके अलावा अगर कुछ जरुरी है तो वो है आपकी मेहनत और टेस्ट को क्लियर करने की लगन

कुछ स्मार्ट टिप्स एंड ट्रिक्स से आप बहुत आसानी से पूरा सिलेबस कवर कर GRE को पास करने की उम्मीद को बढ़ा सकते हैं

back to menu ↑

GRE एग्जाम की तैयारी के लिए सफल टिप्स

आज का युग रटने और पास होने का नहीं बल्कि स्मार्ट स्टडीज के साथ आगे बढ़ने का है। यह है कुछ विशेष टिप्स जो आपको GRE क्रैक करने में मदद करेगी

back to menu ↑

स्टडी मैटेरियल (Study Material)

कैसे करें विदेश जाने के लिए GRE एग्जाम की तैयारी?

हम किसी भी एग्जाम की तयारी करते है तो सबसे पहले उससे जुडी सारी किताबों की छानबीन करते है। यही वो समय होता है जब हमें सही स्टडी मैटेरियल का चयन करना चाहिए। किसी अनुभवी कैंडिडेट की मदद से फायदेमंद स्टडी मैटेरियल लें। 

अगर यह आपका पहले एटेम्पट है तो कुछ आसान किताबों से शुरुआत करते हुए सिलेबस को समझे और फिर एडवांस किताबों की मदद लें। आप ऑनलाइन स्टडीज से भी अपनी तैयारी आसानी से कर सकते हैं

back to menu ↑

एग्जाम तारीख का चयन (Selection of exam date)

हर महीने एग्जाम होता है इसका यह मतलब नहीं की आप कभी भी पेपर दे दो। अपनी तैयारी के हिसाब से एग्जाम डेट का चयन करें ताकि आप अच्छे से पेपर्स एटेम्पट कर उसे क्रैक कर सकें

back to menu ↑

मॉक टेस्ट (Mock test)

GRE टेस्ट को क्रैक करने के लिए बहुत जरुरी है की आप टेस्ट पेपर्स की प्रैक्टिस करते रहे। आपको कई निजी वेबासाइट्स पर मॉक टेस्ट या प्रैक्टिस टेस्ट आसानी से मिल जायेंगे जिससे आपको पता चलेगा की आपकी तयारी कैसी चल रही है और पेपर देने के लिए आप तैयार हैं या नहीं

SAT Exam in USA

कैसे करें विदेश जाने के लिए GRE एग्जाम की तैयारी?

back to menu ↑

कॉन्फिडेंस (Confidence)

किसी भी पेपर को देने से पहले जरुरी है की आप अपना कॉन्फिडेंस लेवल को गिरने दें। अगर आपमें कॉन्फिडेंस हैं की आप GRE एग्जाम क्रैक कर सकते हैं तभी आप अच्छी तरह से तैयारी कर पाओगे

back to menu ↑

सोशल मीडिया से दूरी (No to social media)

आजकल युवा ज्यादा से ज्यादा समय सोशल मीडिया पर बीतता है, लेकिन अगर आप GRE टेस्ट को क्लियर करना चाहते हैं तो बहुत जरुरी है खुद को सोशल मीडिया से दूर रखें। फ़ोन और इंटरनेट का इस्तेमाल सिर्फ पढ़ने के लिए ही करें

यह कुछ ऐसी बातें हैं जिनका ध्यान रखना पड़ेगा अगर आप सही में विदेश जा कर अपने मैनेजमेंट की पढाई को आगे बढ़ाना चाहते हैं। GRE आपके कॉलेज के पेपर्स की तरह इतना आसान नहीं है जिसे आप नार्मल पढाई कर के क्रैक कर दो। यह इंटरनेशनल लेवल का पेपर जिसे पास करने के लिए कड़ी मेहनत, लगन और पढाई की जरुरत है

ध्यान रखें की इसको पास करने वाले इंसान ही होते हैं तो यदि आप में लगन व जज्बा होगा तो आप इस एग्जाम को आसानी से पास कर सकते हैं हमारी दुआएं भी आपके साथ हैं

back to menu ↑

इन्हें भी पढ़े

  1. 11 easy ideas for Facebook earning
  2. List of Competitive Exams for Government Jobs in India
  3. कैसे पाएं स्कूल में सफलता (How to Get Success Hindi)
back to menu ↑

बाहरी कड़ियाँ

कैसे करें विदेश जाने के लिए GRE एग्जाम की तैयारी?

We will be happy to hear your thoughts

      Leave a Reply

      Aliscience
      Logo
      Enable registration in settings - general
      %d bloggers like this: