क्या है TOEFL test और कैसे करें इसकी तैयारी?

क्या है TOEFL Test और कैसे करें इसकी तैयारी?

TOEFL का पूरा नाम Test of English as a Foreign Language और यह एग्जाम अमेरिका और कनाडा की यूनिवर्सिटियों में दाख़िला लेने के लिए जरूरी होता है। TOEFL उन कैंडिडेट्स के लिए होता है जो विदेशी यूनिवर्सिटीज से आगे की पढाई पूरी करना चाहते हैं पर उनकी मातृभाषा अंग्रेजी नहीं होती।

आपको बता दें की TOEFL टेस्ट अमेरिका बेस्ड ‘एजुकेशनल टेस्टिंग सर्विस (ईटीएस)’ कंडक्ट कराती है। जीआरई एग्जाम का आयोजन भी एजुकेशनल टेस्टिंग सर्विसेज के द्वारा ही किया जाता है

आज का युवा अपने करियर के यह प्रति बेहद सचेत हैं और वह जानता है की कौन सी पढाई कंहा करने से उसे भविष्य में सफलता मिलेगी। आज हर कोई विदेश जाकर पढ़ने की इच्छा रखता है, लेकिन परिस्थितियों के कारण यह सपना हर किसी विद्यार्थी का साकार नहीं हो पाता।

अगर आप भी फॉरेन यूनिवर्सिटीज में पढ़ने के लिए किसी ख़ास एग्जाम की तैयारी कर रहे हैं तो जरूरी है की आप एक बार TOEFL एग्जाम के बारे में भी जाने और समझे की इस एग्जाम को क्रैक करना भी उतना ही जरूरी है जितना दूसरे एंट्रेंस एग्जाम होते हैं।

 

क्यों जरुरी होता है TOEFL?

TOEFL टेस्ट के द्वारा किसी भी कैंडिडेट की अंग्रेजी भाषा की जानकारी को चेक कर यह देखा जाता है की उसकी अमेरिकन इंग्लिश कैसी है और अगर भविष्य में किसी अमेरिकन या कनाडा यूनिवर्सिटी में दाख़िला होता है तो वो वंहा की भाषा के साथ रहने के अनुकूल है या नहीं!

अब तक लगभग 130 से ज्यादा देशों के 9000 से भी ज्यादा कॉलेजेस ने इस एग्जाम को मान्यता दे दी है और कहा है की उनके संस्थान से शिक्षा पाने के लिए TOEFL को क्रैक करना जरूरी है। अकेले अमेरिका में 2500 से ज्यादा कॉलेज TOEFL के सर्टिफ़िकेट की मांग करते हैं।

 

TOEFL के लिए योग्यता

TOEFLमें बैठने के लिए किसी भी कैंडिडेट को कम से कम हाई स्कूल पास होना जरूरी है। सबसे अच्छी बात यह है की इस परीक्षा में बैठने के लिए किसी भी तरह की कोई आयु सीमा नहीं है। हर 12 दिन के गैप के बाद कैंडिडेट इस एग्जाम में बैठने के लिए योग्य हो जाता है। मतलब की यदि आपने यह एग्जाम दिया है तो एग्जाम के 12 दिन बाद आप दोबारा यह एग्जाम दे सकते हैं।

 

कैसे करें TOEFL के लिए रजिस्ट्रेशन

Exam TOEFL का रजिस्ट्रेशन ऑनलाइन, फ़ोन, मेल या पोस्ट के जरिए होता है। हालांकि इसका सबसे आसान तरीका ऑनलाइन है जो ‘एजुकेशनल टेस्टिंग सर्विस (ETS) की ओफ्फिसिअल वेबसाइट पर जाकर करवाया जा सकता है। जिसका लिंक आपको नीचे मिल जाएगा।

क्या है TOEFL test और कैसे करें इसकी तैयारी?

TOEFL का टेस्ट फॉर्मैट

यह टेस्ट दो फ़ॉर्मेट में कंडक्ट करवाया जाता है, पहला ऑनलाइन दूसरा ऑफलाइन।

ऑनलाइन टेस्ट को टॉफ़ल आईबीटी फ़ॉर्मेट (Tofel ibt) कहते हैं और पेपर बेस्ड ऑफलाइन टेस्ट टॉफ़ल पीबीटी फ़ॉर्मेट (Tofel pbt) कहा जाता है। यह पुरी तरह कैंडिडेट का चुनाव होता है की उसे किस तरह का पेपर देना है। हालाँकि टेस्ट सेंटर के अनुसार भी फ़ॉर्मेट का चुनाव किया जाता है। वैसे अधिकतर विद्यार्थी आईबीटी फ़ॉर्मेट से ही पेपर देना पसंद करते है पर कई बार जिन टेस्ट सेंटरों पर इंटरनेट आधारित टेस्ट लेने की सुविधा नहीं होने के कारण उन्हें ऑफलाइन एग्जाम देना पड़ता है।

 

TOEFL का टेस्ट स्कोर

इस टेस्ट की मार्किंग 0 से 120 पॉइंट्स के आधार पर की जाती है। अगर किसी कैंडिडेट के 90 या इससे ज्यादा पॉइंट्स आते हैं तो को सबसे अच्छा स्कोर माना जाता है। हालांकि यह बात अलग है की हर यूनिवर्सिटी अपने हिसाब से TOEFL स्कोर तय करती है की उनकी यूनिवर्सिटी में दाखिले के लिए कितने मार्क्स जरूरी है।

कैसे करें विदेश जाने के लिए GRE एग्जाम की तैयारी?

TOEFL टेस्ट की अवधि

इस टेस्ट के स्कोर की अवधि 2 साल तक वैध होती है। एग्जाम के 10 दिनों बाद स्कोर जाँचने के लिए एक ईमेल आता है। इस ईमेल के माध्यम से TOEFL का स्कोर पता चलता है और 13 दिनों बाद कैंडिडेट्स को TOEFL स्कोर की प्रिंट रिपोर्ट मिल जाती है।

 

TOEFL Test का सिलेबस

जैसा की हमें पता है की यह अंग्रेजी का पेपर है तो इसका सिलेबस भी अंग्रेजी विषय से ही जुड़ा हुआ है। इसमें बच्चों को बहुत सक्रिय रहने की आवश्यकता है। पढ़ना, बोलना, सुनना और लिखना इसमें शामिल है। अगर अंग्रेजी में इन चारों पर अच्छी पकड़ होगी तो TOEFL क्रैक करने में किसी प्रकार की कोई बाधा नहीं आएगी।

 

कैसे करें TOEFL Test की तैयारी?

अगर आपके आगे की पढाई के लिए TOEFL अनिवार्य है तो बहुत जरूरी है यह जानना की इसके लिए किस तरह पढाई करें की आपका पेपर पहली बार में ही क्रैक हो जाए। देखें और जाने कुछ स्मार्ट टिप्स एंड ट्रिक्स जो आपकी तैयारी के लिए बेहद ही फ़ायदेमंद साबित होगा:

  • नोट्स तैयार करना: TOEFL एग्जाम में आपको एक ऑडियो क्लिप सुनाई देगी जिसको सुनकर आपको कुछ सवालों के जवाब देने पड़ेंगे। चूँकि ऑडियो सिर्फ एक बार ही सुनाई जाएगी इसलिए आप दोबारा उनसे कुछ पूछ नहीं सकते हो। आपको जल्दी जल्दी नोट्स तैयार करने की जरुरत है ताकि आप सवालों के जवाब जल्दी दे सकें। हालाँकि यह सुनने में बेहद ही आसान सा काम लग रहा है लेकिन असलियत में यह बेहद हार्ड काम  है। आपको इसकी बहुत प्रैक्टिस करनी पड़ेगी जिसके लिए अलग-अलग तरह के ऑडियो क्लिप्स सुन कर नोट्स तैयार करें और कोशिश करें की आपका पूरा ध्यान उन क्लिप्स को सुनने में ही लगे और सारी जानकारी सही तरीके से नोट कर पाएं।
  • ऑनलाइन टेस्ट प्रैक्टिस: अगर आप TOEFL को बहुत हाई मार्क्स के साथ क्रैक करना चाहते हैं तो जरूरी है इसके प्रक्टिसे टेस्ट पेपर्स को सॉल्व करना। यह पेपर्स आपको बहुत आसानी से ऑनलाइन मिल जायेंगे। प्रैक्टिस टेस्ट पेपर्स को सॉल्व करने से ना केवल आपकी स्पीड बढ़ेगी बल्कि इसके अलावा यह आपका कॉन्फिडेंस बढ़ाने में भी बेहद फ़ायदेमंद साबित होता है। इस तरह के ऑनलाइन पेपर देने से आपको पता चलेगा की आपकी तैयारी किस तरह चल रही है और जितनी मेहनत आप कर रहे हैं वो काफी है या नहीं।
  • रीडिंग प्रैक्टिस: जैसा की TOEFL में रीडिंग सेक्शन भी आपके मार्क्स बढ़ने में मदद करता है इसलिए बहुत जरूरी है की आप अपनी रीडिंग स्किल्स में सुधर लाते रहे। वैसे भी एक्सपर्ट्स कहते हैं की अगर किसी भी भाषा पर अच्छी पकड़ बनानी है तो उसे जितना ज्यादा हो सके उतना पढ़ो।
  • पॉडकास्ट सुनिए: आपको इंटरनेट पर कई तरह के अमेरिकन इंग्लिश के रेडियो क्लिप्स मिल जायेंगे जिसे सुन कर आप अपने स्किल्स को और शार्प बना सकते हो। आप कोई मूवी या कोई कॉमेडी भी सुन सकते हो अपनी अंग्रेजी सुधारने के लिए या फिर अमेरिकन इंग्लिश में समाचार भी फायदेमंद रहेंगे। रिकॉर्डिंग को समझना एक वीडियो को समझने की तुलना में कठिन है  इसलिए इसके लिए बहुत मेहनत की जरुरत है।
  • राइटिंग प्रैक्टिस: अगर आप अभी भी कंप्यूटर के QWERTY कीपैड के साथ संघर्ष कर रहे हो तो शायद अभी आप TOEFL टेस्ट में बैठने के लिए तैयार नहीं हुए हैं। इसके लिए जरूरी है की आप अपनी टाइपिंग स्पीड बढ़ाएं। इसके बिना आपका TOEFL में बैठना बेकार है। ऐसा कई बार देखा गया है की कैंडिडेट अपनी तैयारी बहुत अच्छी तरह करते हैं लेकिन सिर्फ स्लो टाइपिंग स्पीड की वजह से वो हाई स्कोर नहीं बना पाते और कई बार टेस्ट में अप्लाई करने के बाद भी सिलेक्शन नहीं होता। इसके लिए बहुत जरूरी है की अपनी टाइपिंग स्पीड पर ध्यान दें। वैसे टच टाइपिंग सीखने में आपकी मदद करने के लिए बहुत सारे मुफ्त ऑनलाइन टूल हैं जिसका इस्तेमाल कर आप अपनी स्पीड को बढ़ा सकते हैं।

यह है TOEFL टेस्ट से जुडी कुछ महत्वपूर्ण बातें जिसको हर कैंडिडेट को ध्यान में रखते हुए ही अपनी तैयारी करनी चाहिए।

इन्हें भी पढ़ें

  1. बुद्धि लब्धि एवं बुद्धि परीक्षण
  2. बुद्धि की परिभाषाएं, प्रकार एवं इससे जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य
  3. What is GRE? Know all details about GRE Exam

बाहरी कड़ियां

  1. Learn Blogging – https://aliseotools.com
  2. Our facebook page – https://www.facebook.com/aliscience.in
  3. http://www.ets.org/
  4. http://toeflpractice.ets.org/

क्या है TOEFL Test और कैसे करें इसकी तैयारी?

We will be happy to hear your thoughts

Leave a reply

Aliscience
Logo
Enable registration in settings - general
Compare items
  • Total (0)
Compare
0
Shopping cart