अनुवांशिक विज्ञान / आनुवंशिकी

genetics in hindi, जेनेटिक्स नोट्स इन हिंदी, definition of heredity in hindi, आनुवंशिकता क्या है?, आनुवंशिकता की परिभाषा, mechanism of heredity in hindi, जेनेटिक्स क्या है? आनुवंशिकी,

वंशागति (Heredity / Inheritance)

वह प्रक्रम जिसमें लक्षण एक जनक से संतति में जाते हैं, वंशागति कहलाता है। वंशागति अनुवांशिक विज्ञान (Genetics) का आधार है। हैरिडिटी शब्द स्पेंसर (Spenser) द्वारा दिया गया।

विविधता (Variation)

जनक और संतति तथा एक ही जनक से उत्पन्न संतति के लक्षणों में पाई जाने वाली असमानता (Differenciation) को विविधता कहते हैं ।

जीवों में दो प्रकार की विभिन्नताएँ पाई जाती है –

(1) सोमेटोजेनिक विभिन्नताएँ (Somatogenic Variations)

(2) ब्लास्टोजेनिक विभिन्नताएँ (blastogenic variations)

सोमेटोजेनिक विभिन्नताएँ (Somatogenic Variations)

ये उपार्जित विभिन्नताएँ होती है, तथा प्रकृति में अवंशागत होती है। जीवों की वातावरण के सन्दर्भ में इसके लक्षण प्ररूप में आंशिक परिवर्तन की क्षमता लक्षण प्ररूपिक प्रत्यास्थता कहलाती है।

ब्लास्टोजेनिक विभिन्नताएँ (blastogenic variations)

ये जननिक विभिन्नताएँ है, तथा प्रकृति में वंशागत होती है। ये दो प्रकार की होती है।

अनुवांशिक विज्ञान (Genetics)

जीव विज्ञान की वह शाखा जिसमें जीवो में पाई जाने वाली विविधता तथा वंशागति का अध्ययन किया जाता है। अनुवांशिक विज्ञान कहलाती है।

अनुवांशिक विज्ञान का जनक ग्रेगर जॉन मेंडल को कहा जाता है। आधुनिक विज्ञान का जनक Batson को कहा जाता है।


genetics in hindi, जेनेटिक्स नोट्स इन हिंदी, definition of heredity in hindi, आनुवंशिकता क्या है?, आनुवंशिकता की परिभाषा, mechanism of heredity in hindi, जेनेटिक्स क्या है? आनुवंशिकी,


अनुवांशिक विज्ञान में काम आने वाले महत्वपूर्ण शब्द  (Important words used in genetics)

कारक (Factor)

लक्षणों को नियंत्रित करने वाली इकाई कारक कहलाती है। जिसे बाद में जीन कहा गया।

जीन (Gene)

वह इकाईयां जो लक्षणों को नियंत्रित करती जीन कहलाती है। यह डीएनए का एक छोटा क्रियाशील खंड होता है। यह अनुवांशिकता की इकाई होती है।

जीन शब्द जोहन्शन के द्वारा दिया गया।

युग्म विकल्पी / अलिल (Allele)

एक ही लक्षण के दो भिन्न-भिन्न विपरीत रूप को व्यक्त करने वाले कारकों को अलिल कहते हैं। जैसे लंबाई के लिए लंबा तथा बौना। युग्मविकल्पी शब्द बेटसन द्वारा दिया गया।

समयुग्मजी (Homozygous)

यदि अलिल का जोड़ा समान अलील वाला होता है तो उसे समयुग्मजी कहते हैं।

विषम युग्मजी (Heterozygous)

यदि अलील का जोड़ा असमान अलील वाला होता है। तो उसे विषम युग्मजी कहते हैं।

लक्षण प्ररूप (Phenotype)

यह किसी जीव की बाह्यआकारिकी (Outer Appearance)  दर्शिता है। व्यष्ठि के लक्षण प्ररूप युग्मविकल्पियों के भिन्न संयुग्मन द्वारा निर्धारित होते हैं। जैसे – लम्बापन या बौनापन

जीनप्ररूप (Genotype)

यह जीव के आनुवंशिकी संगठन (Genetic Structure) का प्रदर्शन है।  जैसे TT, Tt, tt

प्रभावी लक्षण (Dominant Character)

वह जो लक्षणों F1 पीढ़ी में अपना प्रभाव दर्शाता है, प्रभावी लक्षण कहलाता है। यह लक्षण समयुग्मजी (Homozygous) तथा विषम युग्मजी (Heterozygous) दोनों अवस्थाओं में अपना प्रभाव दर्शाता है। जैसे लम्बा पौधा।

अप्रभावी (Recessive Character)

वह जो लक्षणों F1 पीढ़ी में अपना प्रभाव नहीं दर्शाता है, अप्रभावी लक्षण कहलाता है। यह केवल विषम युग्मजी (Heterozygous) अवस्था में अपना प्रभाव दर्शाता है। इसके उत्पाद या तो अपूर्ण या अल्प प्रभावी होते हैं। जैसे बोना पौधा।

एक संकर संकरण (Monohybrid Cross)

एक ही प्रकार के दो विपरीत लक्षणों को काम में लेकर करवाया गया संकरण एक संकर संकरण (Monohybrid Cross) कहलाता है। जैसे लम्बे (TT) तथा बौने (tt) पादपों में संकरण करवाना । अधिक जानकारी के लिए Click here

द्वि संकर संकरण (Dihybrid Cross)

दो प्रकार के लक्षणों को काम में लेकर करवाया गया संकरण द्वि संकर संकरण ( Di hybrid Cross) कहलाता है। जैसे गोल व पीले बीज (RRYY) वाले पादपों का संकरण तथा झुर्रीदार व हरे बीज (rryy) वाले पादपों से करवाना। अधिक जानकारी के लिए Click here

बहू संकर संकरण (Polyhybrid Cross)

विभिन्न प्रकार के लक्षणों को काम में लेकर करवाया गया संकरण बहु संकर संकरण (Poly hybrid Cross) कहलाता है। जैसे गोल व पीले बीज वाले लम्बे पादपों  (TTRRYY) का संकरण तथा झुर्रीदार व हरे बीज वाले बौने (ttrryy) पादपों से करवाना। अधिक जानकारी के लिए Click here

 


genetics in hindi, जेनेटिक्स नोट्स इन हिंदी, definition of heredity in hindi, आनुवंशिकता क्या है?, आनुवंशिकता की परिभाषा, mechanism of heredity in hindi, जेनेटिक्स क्या है? आनुवंशिकी,


इन्हें भी पढ़े

  1. जनन स्वास्थ्य (Reproductive Health)
  2. घातक जीन : प्रभावी और अप्रभावी घातक जीन

बाहरी कड़ियाँ

लेक्चर विडियो

 


अगर आपको यह लेख पसंद आया हो, तो इसे सोशल मीडिया जैसे फेसबुक, व्हाट्सएप, ट्विटर आदि पर साझा करके हमारी मदद करें। हम आपके आभारी रहेंगे।

We will be happy to hear your thoughts

Leave a reply

Aliscience
Logo
Enable registration in settings - general
Compare items
  • Total (0)
Compare
0
Shopping cart