कैंसर क्या होता है? What is Cancer in Hindi | Aliscience

कैंसर क्या होता है? What is Cancer

Cancer in Hindi, मेटास्टेसिस क्या है?, Types of tumor in Hindi,  ट्यूमर के प्रकार, कैंसर के कारण Causes of cancer in Hindi, Cancer class 12,  कैंसर का इलाज Treatment of cancer in hindi

कैंसर (Cancer)

कोशिकाओं का अनियंत्रित तथा अनियमित विभाजन (uncontrolled cell division) होने से जो विकार उत्पन्न होता है, उसे कैंसर कहा जाता है।

इसमें कोशिकाओं का संपर्क संदमन (Contact inhibition) यानी समीपस्थ कोशिकाओं से संपर्क टूट जाता है।

ट्यूमर के प्रकार (Types of tumor)

कैंसर होने पर कोशिकाओं में अनियंत्रित विभाजन होने लगता है, जिससे कोशिकाएं एक गांठ या ट्यूमर (tumor) का निर्माण करते हैं यह ट्यूमर दो प्रकार का होता है-

  1. बिनाइन टयूमर (Benign tumor)
  2. मेलिगनेंट टयूमर (Malignant tumor)

बिनाइन टयूमर (Benign tumor)

ये अपने उत्पत्ति के स्थान (Place of origin) पर ही सीमित रहते हैं। इनके चारों ओर संयोजी ऊतकों (Connective tissue) का आवरण होता है। जिसके कारण यह शरीर के दूसरे भाग में नहीं फैल पाते है। यह कम हानिकारक होते हैं।

Cancer in Hindi, मेटास्टेसिस क्या है?, Types of tumor in Hindi,  ट्यूमर के प्रकार, कैंसर के कारण Causes of cancer in Hindi, Cancer class 12,  कैंसर का इलाज Treatment of cancer in hindi

मेलिगनेंट ट्यूमर (Malignant tumor)

यह ट्यूमर अपने मूल स्थान से निकलकर किसी अन्य स्थान पर चला जाता है, और वहां पर भी की ट्यूमर का निर्माण कर लेता है। जिसे कैंसर का फैलना कहते है।

ट्यूमर की कैंसर कोशिकाओं का अपने मूल स्थान से निकलकर रक्त के द्वारा शरीर के अन्य भाग तक पहुंचने की प्रक्रिया मेटास्टेसिस (Metastasis) कहलाती है।

 

मेलिगनेंट टयूमर का निर्माण होने पर इसकी कोशिकाओं को पोषण की अत्यधिक आवश्यकता होती है। कैंसर कोशिकाओं (Cancerous cells) को पोषण प्रदान करने के लिए नई रक्त वाहिनी (Blood vessels) का निर्माण होता है। इस प्रक्रिया को एंजियोजेनेसिस (Angiogenesis) कहते हैं।

 

कैंसर के प्रकार (Types of Cancer)

शरीर के अंगों के आधार पर कैंसर को अलग-अलग भागों में बांटा गया है-

कार्सिनोमा (Carcinoma cancer)

शरीर के उपकला ऊतकों (Epithelium tissue) में होने वाला कैंसर।

सार्कोमा (Sarcoma)

संयोजी उत्तकों (connective tissue) जैसे पेशी उत्तक में होने वाला कैंसर।

 

ओस्टियोमा (Osteoma)

हड्डियों की कोशिकाओं (Osteocytes) में होने वाला कैंसर।

 

फाइब्रोमा (Fibroma)

तंतुमय (Fibrous tissue) उत्तकों में होने वाला कैंसर।

 

ग्लिओमा (Glioma)

तंत्रिका तंत्र (nervous system) तथा मस्तिष्क (Brain) के ऊतकों में होने वाला कैंसर।

 

मेलानोमा (Melanoma)

त्वचा में पाए जाने वाले मेलेनिन वर्णक (melanin pigment) युक्त मेलेनोसाइट (melanocyte) कोशिकाओं में होने वाला कैंसर।

 

लिंफोमा (Lymphoma)

लसीका गांठ (lymph nodes) में होने वाला कैंसर।

 

कैंसर के कारण (Causes of cancer)

जिन कारको के द्वारा होता है उनको कार्सिनोजेन (Carcinogen) कहा जाता है। यह भौतिक कारक (Physical factors) जैसे विकिरण (radiation), रसायनिक कारक (chemical factors) जैसे निकोटिन (nicotine), जैविक कारक (biological factors) जैसे ऑन्कोवायरस (oncoviruses) हो सकते हैं।

 

सामान्य कोशिकाओं में प्रोटो-ऑन्कोजीन (Proto oncogene) पाई जाती है जो कार्सिनोजेन के कारण उनको ऑन्कोजीन (oncogene) में परिवर्तित हो जाते हैं। जिससे कैंसर उत्पन्न होता है।

 

कार्सिनोजेन (Carcinogen) के प्रोटो-ऑन्कोजीन (Proto oncogene) के DNA में परिवर्तन कर देता है जिसे उत्त्परिवर्तन (Mutation) कहते है। जिससे उस जीन से सम्बन्धित प्रोटीन नहीं बन पाती ओर कोशिका विभाजन अनियमित हो जाता है।

प्रोटो-ऑन्कोजीन (Proto oncogene) में उत्त्परिवर्तन (Mutation) होने से यह ऑन्कोजीन (oncogene) में बदल जाती है।

 

कैंसर के प्रमुख लक्षण (Major symptoms of cancer)

  1. किसी घाव फोड़ा (Wound & abscess) आदि का ठीक नहीं होना।
  2. शरीर के छिद्रों (Hole) से बार-बार रक्त का निकलना (bleeding)।
  3. शरीर के विभिन्न भागों में गांठ (tumor) का बनना।
  4. अपच (Indigestion) या आमाशय में ऐसा असमान्यता (disorder) होना।
  5. अचानक शरीर का वजन कम होना।
  6. निरंतर कफ आना और गले खराब होने की शिकायत बने रहना।

Note – उपरोक्त लक्षण किसी सामान्य रोग में भी दिखाई देते है, इसलिए ये लक्षण दिखाई देने पर डरे नहीं डॉक्टर से सम्पर्क करे।

 

कैंसर का निदान (Diagnosis of cancer)

कैंसर का पता लगाने के लिए विभिन्न प्रकार के टेस्ट किए जाते हैं जैसे-

बायोप्सी (Biopsy) इसमें कैंसर जनित उत्तकों का टुकड़ा लेकर उनकी जांच की जाती है।

रक्त परीक्षण (Blood Test) Blood cancer में उपयोगी।

अस्थि मज्जा परीक्षण (Bone marrow test) Blood cancer में उपयोगी।

एम आर आई (MRI)

सीटी स्कैन (CT scan)

प्रतिरक्षी (Antibody)

कुछ कैंसर का पता लगाने के लिए कैंसर विशिष्ट प्रतिजनों के विरुद्ध  बनने वाली प्रतिरक्षियों का उपयोग किया जाता है।

 

कैंसर का इलाज (Treatment of cancer)

कैंसर के इलाज के लिए अलग-अलग थेरेपी काम में ली जाती है-

कीमोथेरेपी – इसमें विनक्रिसटीन तथा विनब्लास्टिन का उपयोग किया जाता है

रेडियोथैरेपी के द्वारा दिया जाता है

शल्य चिकित्सा

प्रतिरक्षा को बढ़ाकर

 

Cancer in Hindi, मेटास्टेसिस क्या है?, Types of tumor in Hindi,  ट्यूमर के प्रकार, कैंसर के कारण Causes of cancer in Hindi, Cancer class 12,  कैंसर का इलाज Treatment of cancer in hindi

 

इन्हें भी पढ़े

  1. एड्स तथा एचआईवी (AIDS and HIV Hindi)
  2. प्रतिरक्षा तंत्र की कोशिकाएं ( Cells of Immune System)
  3. प्रतिरक्षा तंत्र के अंग (Organs of Immune System)
  4. प्रतिरक्षी संरचना एवं कार्य (Structure and Functions of Antibody )

 

बाहरी कड़ियाँ

  1. Pcbm.weebly.com
  2. Image source – https://www.gethealthystayhealthy.com/
  3. Image source – https://gotalktogetherdotcom.wordpress.com/

 

लेक्चर विडियो

ऑनलाइन टेस्ट

 

We will be happy to hear your thoughts

      Leave a Reply

      Aliscience
      Logo
      Enable registration in settings - general
      %d bloggers like this: