शिक्षा मनोविज्ञान की परिभाषाएं, प्रकृति तथा विशेषताएँ

शिक्षा मनोविज्ञान की परिभाषाएं, प्रकृति तथा विशेषताएँ (Difinitions, Nature and Specificity of Educational Psychology)

शिक्षामनोविज्ञान, मनोविज्ञान की एक शाखा है जिसमें मनोविज्ञान के सिद्धांतों, नियमों, विधियों का उपयोग शिक्षा में क्षेत्र में किया जाता है।

 


शिक्षा मनोविज्ञान की परिभाषाएं (Difinitions of Educational Psychology)

स्किनर (B. F. Skinner) के अनुसार
  • शिक्षा मनोविज्ञान मनोविज्ञान की वह शाखा है। जिसका संबंध अध्ययन (Study) तथा सीखने (Learning) से है।
  • शिक्षामनोविज्ञान अध्यापकों की तैयारी की आधारशिला है।
  • शिक्षा से जुड़े सभी व्यवहार तथा व्यक्तित्व शिक्षा मनोविज्ञान के अंतर्गत आते है।
  • शिक्षा मनोविज्ञान के क्षेत्र में उन सभी ज्ञान और विधियाँ को शामिल किया जाता है। जो सीखने की प्रक्रिया से अधिक अच्छी प्रकार समझने और अधिक कुशलता से निर्देशित करने के लिए आवश्यक है।
  • मानवीय व्यवहार का शैक्षिक परिस्थितियों (Educational situations) में अध्ययन करना ही शिक्षा मनोविज्ञान है।
कॉलेस्निक (W.B. Kolesnik) के अनुसार

मनोविज्ञान के सिद्धांतों (Theories of psycology) व परिणामों (findings) का शिक्षा में अनुप्रयोग (Application) करना शिक्षा मनोविज्ञान है।

एलिस क्रो (Alice Crow) के अनुसार

शिक्षा मनोविज्ञान मानव प्रतिक्रियाओं (Human reactions) के वैज्ञानिक रूप से व्युत्पन्न सिद्धांतों के अनुप्रयोग (application) का प्रतिनिधित्व (Represent) करता है जो शिक्षण और सीखने को प्रभावित करते हैं।

क्रो एंड क्रो (Crow and Crow) के अनुसार

शिक्षा मनोविज्ञान व्यक्ति के जन्म से लेकर वृद्धावस्था तक अधिगम (Learning) के अनुभवों (Expriences) का वर्णन (Describe) तथा व्याख्या (Explain) करता है।

स्टीफन (J. M. Stephon) के अनुसार

शिक्षा मनोविज्ञान बालक के शैक्षिक विकास (Educational development) का क्रमबद्ध (Systemaqtic) अध्ययन है।

 

थार्नडाइक (Thorndike) के अनुसार

शिक्षा मनोविज्ञान के अंतर्गत शिक्षा से संबंधित संपूर्ण व्यवहार (Behaviour) और व्यक्तित्व (Persenalty) आ जाता है।

 

शिक्षा मनोविज्ञान के ज्ञान द्वारा शिक्षक बालक की व्यक्तिगत विभिन्नताओं का ज्ञान प्राप्त करता है। उचित शिक्षण विधियों का चयन करता है। तथा कक्षा-कक्ष में अनुशासन स्थापित करता है।

जर्मन दार्शनिक हरबर्ट को ‘वैज्ञानिक शिक्षा शास्त्र’ का जन्मदाता माना जाता है।

 


शिक्षा मनोविज्ञान की प्रकृति तथा विशेषताएँ (Nature and Specificity of Educational Psychology)

  1. शिक्षा मनोविज्ञान की प्रकृति वैज्ञानिक (scientific nature) होती है। क्योंकि शैक्षिक वातावरण में अधिगमकर्ता (Learner) के व्यवहार का वैज्ञानिक विधियों, नियमों तथा सिद्धांतों (Scientific methods, rules and principles) के माध्यम से अध्ययन किया जाता है।
  2. यह  विधायक (Constitative) और नियामक (Regulative) दोनों प्रकार का विज्ञान है। विधायक विज्ञान तथ्यों (Facts) पर जबकि नियामक विज्ञान मुल्यांकन (assessment) पर आधारित होता है।
  3. शिक्षा का स्वरूप संश्लेषणात्मक (Synthetic) होता है, जबकि शिक्षा मनोविज्ञान का स्वरूप विश्लेषणात्मक (analytic) होता है।
  4. शिक्षामनोविज्ञान एक वस्तुपरक विज्ञान (Material science) है।
  5. शिक्षा मनोविज्ञान व्यवहार का विज्ञान (Science of behavior) क्योंकि इसमें शैक्षणिक परिस्थिति के अंतर्गत बालक के व्यवहार का अध्ययन किया जाता है।
  6. शैक्षणिक परिस्थितियों के अंतर्गत बालक के व्यवहार का अध्ययन करना ही शिक्षा मनोविज्ञान की विषय वस्तु (theme) है।
  7. शिक्षा मनोविज्ञान का सीधा संबंध शिक्षण में अधिगम क्रियाकलापों से है।
  8. शिक्षामनोविज्ञान को सर्वप्रथम आधार प्रदान करने का श्रेय पेस्टोलॉजी द्वारा किया गया।
  9. शिक्षा तथा मनोविज्ञान को जोड़ने वाली प्रमुख कड़ी मानव मानव व्यवहार है।

मोबाइल से संबंधित ब्लॉग – Click here

वेबसाइट कैसे बनाए यहा सीखिए- Click here

Our other website – PCB


If you like this post and want to help us then please share it on social media like Facebook, Whatsapp, Twitter etc.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *