राइबोसोम की सरंचना एवं प्रकार (Ribosome in Hindi)

राइबोसोम का सामान्य परिचय (Introduction of Ribosome): –
राइबोसोम सभी कोशिकाओं (सार्वभौमिक कोशिकांग) में पाया जाता है। जॉर्ज Palade द्वारा सबसे पहले देखा गया। यह परिपक्व आरबीसी में अनुपस्थित होता हैं। यह आकार में सबसे छोटा कोशिकांग है यह आकार में 15-20 एनएम होता है
प्रकार: –
Prokaryotic Ribosome: –  इसमें राइबोसोम 70s प्रकार के होते है जो 50s और 30s उपइकाई के बने होते हैं।
Eukaryotic Ribosome: – इसमें राइबोसोम 80s प्रकार के होते है 60s और 40s उपइकाई के बने होते हैं। माइटोकोन्ड्रियल और क्लोरोप्लास्ट राइबोसोम: – यह 70s प्रकार के जो 50s और 30s उपइकाई के बने होते है

कोशिका में उपस्थिति:
रीबोफोरिन प्रोटिन की मदद से RER पर पर उपस्थित होता है। ये कोशिका के न्यूक्लियोलस(केन्द्रिक) में पाए जाते है एवं सभी कोशिका के साइटोप्लाज्म में पाए जाते हैं।
संरचना: –
अवसादन के अनुसार,  की दो उपइकाई होती हैं। बड़ी उपइकाई आकृति में गुंबद और छोटी अंडाकार होती है।

राइबोसोम

 

बड़ा उपइकाई में तीन स्थल (साइट) होते हैं:

ए-स्थल: – अमीनोएसिल स्थल तथा टी-आरएनए के लिए ग्राही स्थल
पी-स्थल: – पेप्टाइडल साइट, पेप्टाइड श्रंखला के दीर्घीकरण के लिए स्थल ।
ई-स्थल: – टी-आरएनए के लिए राइबोसोम से बाहर निकलने के लिए स्थल।

इसकी उपइकाईयाँ राइबोप्रोटीन और आर-आरएनए द्वारा बनी होती हैं

50s उपइकाई – 34% प्रोटीन + 23 एस और 5 एस आर-आरएनए

30s उपइकाई – 21% प्रोटीन + 16 एस आर-आरएनए

60s उपइकाई – 40% प्रोटीन + 28 एस, 5.8 एस और 5 एस आर-आरएनए

40s उपइकाई 33% प्रोटीन + 18 एस आरआरएनए

गठन: –

इसका गठन न्यूक्लियोलस (केन्द्रिक) में 40-60% प्रोटीन और 60-40% आरएनए द्वारा होता है। न्यूक्लियोलस को राइबोसोमल उत्पादक फैक्टरी माना जाता है।

कार्य: –

यह प्रोटीन संश्लेषण में भाग लेता है, इसलिए इसे सेल के इंजन या प्रोटीन फैक्ट्री के रूप में जाना जाता है।

पॉलीराइबोसोम- प्रोटीन संश्लेषण के दौरान कई राइबोसोम एम-आरएनए से जुड़कर एक सरंचना बनाता है जिसे पॉलीराइबोसोम या पोलीसीम कहा जाता है।


Reference
Wikipedia
BSER books
NCERT books
Molecular Biology of the Cell-Alberts
Cell and Molecular Biology Concepts and Experiments.Gerald karp
Cell Biology, Genetics, Molecular Biology, Evolution and Ecology by Verma, Agarwal

This Post Has 3 Comments

Leave a Reply

×
×

Cart