उपसंघ सिफैलोकोर्डेटा

Deal Score+3
Deal Score+3

उपसंघ सिफैलोकोर्डेटा (Subphylum Cephalochordata/the lancet)

Cephalochordata शब्द ग्रीक भाषा के तीन शब्दों Cephalo, chord, तथा ata से बना है।

Cephalo का अर्थ सिर (Head), chord  का अर्थ रस्सी या रज्जु (cord), तथा ata का अर्थ धारण करना (to bearing) है।

इनकी लगभग 23 जातियाँ (species) पायी जाती है।

उपसंघ सिफैलोकोर्डेटा के सामान्य लक्षण (Common Charactritics of Subphylum Cephalochordata)

  1. ये समुद्रवासी (Marine), एकल (Solitory), स्वतंत्रजीवी (Free living) या बिलकारी होते है।
  2. इनका शरीर समुद्र के तल में कीचड़ (Mud) में धंसा होता है।  और अग्र भाग (Anterior part) बिल से बाहर निकला रहता है।
  3. इनका शरीर लम्बा दोनों सिरों पर नुकीला (tapered at both ends) तथा मछली के समान (मीनसदृश्य, fish-like) होता है।
  4. इनके शरीर में V आकार की खण्डीय रेखित पेशियाँ (striated muscles fibres block) पायी जाती है।
  5. इनके शरीर पर तैरने के लिए अयुग्मित पंख या फिन (Unpaired Fins) पाए जाते है।
  6. इनमें पृष्ठरज्जु (NotoChord), पृष्ठ तंत्रिका नाल (Dorsal tubular nerve cord) तथा ग्रसनीय क्लोम दरारे (Pharyngeal gill clefts/ Silts) जीवनपर्यन्त बनी रहती है।
  7. पृष्ठरज्जु (NotoChord) अग्र सिरे से लगाकर पश्च सिरे (From head to foot) तक फैली रहती है।
  8. पृष्ठ तंत्रिका नाल (Dorsal tubular nerve cord)  भी पृष्ठरज्जु के समान शरीर की सम्पूर्ण लम्बाई में फैली रहती है।
  9. ग्रसनीय क्लोम दरारे (Pharyngeal gill clefts) संख्या में अधिक तथा स्पष्ट होती है।
  10. इनमें पूर्ण विकसित आहारनाल (Alimentary canal), आंत्र (Intestine), यकृत (Liver) उपस्थित होता है।
  11. परिसंचरण बंद प्रकार का (Closed circulatory system) होता है।  इनमें हृदय तथा श्वसन वर्णक (Respiratory pigment) अनुपस्थित होता है।  जिसके कारण इनका रक्त रंगहीन (Colorless blood) होता है।
  12. उत्सर्जन युग्मित पक्ष्माभी प्रोटोवृक्कक (Paired ciliated protonephridia) द्वारा होता है।  इनमें पाए जाने वाले वृक्कक को है। चेक नेफ्रिडीया कहते है।
  13. ये एकलिंगी (Unisexual ), बाह्य निषेचन (External fertilization) तथा प्रत्यक्ष परिवर्धन (Direct development) वाले प्राणी है।

उपसंघ सिफैलोकोर्डेटा (Subphylum Cephalochordata/the lancet)

 

उपसंघ सिफैलोकोर्डेटा का वर्गीकरण (Classifications of Subphylum Cephalochordata)

सिफैलोकोर्डेटा के अंतर्गत केवल एक ही वर्ग आता है–

वर्ग लेप्टोकोर्डी (Class Leptocardi)

इनको सामान्यतया लेन्सलेट (Lancelets) कहा जाता है।

उदाहरण Branchiostama (Amphioxus), Assymetron

 

इन्हें भी पढ़ें

  1. जटिल ऊतक – जाइलम एवं फ्लोएम
  2. विशिष्ट ऊतक/स्रावी ऊतक
  3. पादपों में द्वितीयक वृद्धि
  4. विभिन्न प्रकार के पुष्पक्रम (Different Types of Inflorescence Hindi)
  5. पादपो में बीजाण्डन्यास (Plant Placentation in hindi)
  6. फल एवं इसके प्रकार (FRUITS AND THEIR TYPES)
  7. एकबीजपत्री एवं द्विबीजपत्री तने की आंतरिक संरचना
  8. द्विबीजपत्री तथा एकबीजपत्री जड़ की आंतरिक संरचना
  9. संघ पोरिफेरा या स्पंज का संघ (Phylum-Porifera or Sponge Hindi)
  10. संघ सीलेन्ट्रेटा या नाइडेरिया (Phylum – Coelenterata or Cnidaria in Hindi)
  11. Phylum संघ – टीनोफोरा
  12. Phylum संघ आर्थोपोडा
  13. संघ मोलस्का
  14. संघ एकाइनोडर्मेटा
  15. Phlylum संघ हेमीकॉड्रेटा
  16. संघ कॉर्डेटा
  17. उपसंघ यूरोकॉर्डेटा

 

बाहरी कड़ियां

https://www.aliseotools.com/blog/how-to-get-high-quality-backlinks-for-website

 

ऑनलाइन लेक्चर वीडियो


Keywords  उपसंघ सिफैलोकोर्डेटा, Subphylum Cephalochordata, the lancet, Amphioxus


If you like this post then please share it on social media like Facebook, Whatsapp, Twitter etc.


मोबाइल से संबंधित ब्लॉग – Click here

Our other website – pcbm

 

Hamid Ali
We will be happy to hear your thoughts

Leave a reply

Aliscience
Logo
Enable registration in settings - general